रेखा पात्रा ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को भी एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि तामलुक लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार भट्टाचार्य ने उनकी निजी जानकारी और बैंक खातों का ब्यौरा सार्वजनिक किया।

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में स्थित संदेशखाली गांव हाल ही में काफी चर्चाओं में रहा। यहां की महिलाओं ने आरोप लगाया था कि शाहजहां शेख ने उनकी जमीन पर कब्जा करने के साथ-साथ कुछ महिलाओं के साथ यौन शोषण भी किया है, जिसकी जांच चल रही है। बंगाल की पूरी सियासत अभी संदेशखाली के ईर्दगिर्द भटक रही है। महिलाओं की दुर्दशा को उजागर करने वाली बशीरहाट से भाजपा उम्मीदवार रेखा पात्रा ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) उम्मीदवार देवांग्शु भट्टाचार्य के खिलाफ उनकी निजता के कथित उल्लंघन को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को भी पत्र लिखा

रेखा पात्रा ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को भी एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि तामलुक लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार और पार्टी की सोशल मीडिया इकाई के प्रमुख भट्टाचार्य ने उनकी निजी जानकारी और बैंक खातों का ब्यौरा सार्वजनिक किया।

यह जानकारियां सार्वजनिक करने का आरोप

पात्रा के वकील ने पत्र में कहा, 'हाल ही में देवांग्शु भट्टाचार्य ने फेसबुक पर एक पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने तामलुक से टीएमसी उम्मीदवार की निजी जानकारी साझा की, जैसे- फोन नंबर, बैंक खाते का ब्यौरा, स्वास्थ्य साथी योजना के साथ-साथ दुआरे सरकार की योजना से जुड़ी जानकारियां। ऐसा करना स्पष्ट रूप से पात्रा की निजता का हनन है।'

टीएमसी नेता के खिलाफ तुरंत हो कार्रवाई

भाजपा उम्मीदवार ने अपने वकील के माध्यम से आयोग से आग्रह किया कि वे निजता के अधिकार का उल्लंघन करने, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति संरक्षण (अत्याचार निवारण) अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन करने के लिए टीएमसी नेता के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करें।

Azra News

Azra News

Next Story