रात्रि में प्रतिष्ठान बंद होने के बाद करायें साफ-सफाई: डीएम

रात्रि में प्रतिष्ठान बंद होने के बाद करायें साफ-सफाई: डीएम

- प्रत्येक वार्ड में माह में दो बार फागिंग व एंटी लार्वा का करायें छिड़काव

- पालिका व नगर पंचायतों के कार्यों की डीएम ने समीक्षा कर दिये निर्देश

फोटो परिचय- बैठक में भाग लेतीं डीएम श्रुति व अन्य।


फतेहपुर। नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों में होने वाले कार्यों की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी श्रुति की अध्यक्षता में संपन्न हुई। उन्होंने अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका परिषद व नगर पंचायत को निर्देशित किया कि अपने अपने क्षेत्रों में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें। इसके लिए कार्य योजना बनाकर रात्रि में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद होने के बाद साफ सफाई का कार्य शुरू कराया जाये। इसके लिए वार्ड वाइज सफाई सुपरविजन के लिए कर्मचारी की तैनाती की जाय। साफ सफाई कराते हुए फोटो सहित रिपोर्ट से भी अवगत कराए। साथ ही साफ सफाई का कार्य संवेदनशीलता के साथ कराएं और इसकी निगरानी भी कराए। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही/शिथिलता क्षम्य नही होगी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड में महीने में कम से कम दो बार फागिंग एवं एंटी लार्वा का छिड़काव कराया जाये। शहरी क्षेत्रों में एक सितम्बर से पंद्रह सितम्बर तक छुट्टा/निराश्रित गौवंश को संरक्षित करने का अभियान चलाया गया

इसके अंर्तगत 336 गौवंश को नजदीकी अलग-अलग गौशालाओं में भेजा गया और 51 गौवंश नगर पालिका परिषद सदर व 168 गौवंश नगर पंचायत खागा के नागरिकों को दिए गए। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में निराश्रित गौवंशो को संरक्षित करने के लिए जरूरत के हिसाब से शहरी क्षेत्रों के गौशालाओं में अधिक शेड बनाने हेतु नियमानुसार कार्यवाही करते हुए प्रस्ताव बनाकर शेड बनाए जाये। उन्होंने कहा कि धाता, खखरेरू, जहानाबाद में जो स्थाई गौशाला बनाने हेतु प्रस्ताव भेजा गया था भूमि की कार्यवाही पूरी करते हुए सभी प्रक्रियाओं को पूरी करते हुए कार्य शुरू किया जाये। नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों की जो जमीन खाली पड़ी है। उन पर गौवंशो हेतु हरे चारे की बुआई कराई जाये। नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों में एमआरएफ सेंटर जो अपूर्ण है उन्हे जल्द से जल्द पूरा कराया जाये। साथ ही जो एमआरएफ सेंटर क्रियाशील है। उन पर एक रजिस्टर बनाकर आने वाले और निस्तारण होने वाले कूड़े की इंट्री कराए साथ ही समय समय पर निरीक्षण भी करते रहे। शहरी पोखर संरक्षण तालाब योजना के अंतर्गत शहरी क्षेत्रों के तालाबों के सौंदर्यीकरण के लिए नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों से कम से कम एक तालाब का प्रस्ताव बनाकर भेजें।उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत नगर पालिका परिषद सदर में धोबी घाट तालाब के सौंदर्यीकरण के लिए बजट प्राप्त हुआ है। तांबेश्वर मंदिर के पास, शनिदेव गोपाल नगर के पास तालाब में जो सौंदर्यीकरण कार्य चल रहा है उसका निरीक्षण करने एवं रिपोर्ट देने के निर्देश अपर जिलाधिकारी न्यायिक को दिए। बैठक में नगर पालिका परिषद बिंदकी के जेई द्वारा सही रिपोर्ट नहीं बताने पर स्पष्टीकरण लेने निर्देश संबंधित को दिए। साथ ही कहा कि बैठक से पहले अपने स्तर से समीक्षा अवश्य कर लें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी न्यायिक धीरेन्द्र प्रताप, एलडीएम सहित समस्त ईओ व जेई उपस्थित रहे।


Azra News

Azra News

Next Story