लक्ष्य के अनुरूप पोषण वाटिका बनवाए जाने के दिये निर्देश

पोषण ट्रैकर में शत-प्रतिशत करायें फीडिंग कार्य: डीएम

- लाभार्थियों को दिये जाने वाले पोषण आहार का करायें क्रास वेरीफिकेशन

- लक्ष्य के अनुरूप पोषण वाटिका बनवाए जाने के दिये निर्देश

फोटो परिचय- बैठक में भाग लेतीं डीएम श्रुति व अन्य।

फतेहपुर। जिला पोषण समिति एवं कनवर्जेंस विभागों की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी श्रुति की अध्यक्षता में संपन्न हुई। उन्होने कहा कि शासन की मंशानुरूप बच्चों, गर्भवती, धात्री महिलाओं, किशोरियों को समय से पोषण आहार वितरण किया जाये। ताकि पोषण स्तर में सुधार आ सके। साथ ही पोषण ट्रैकर में शत प्रतिशत फीडिंग का कार्य कराया जाये। जिन लाभार्थियों को पोषण आहार वितरण किया गया है उसका क्रास वेरीफिकेशन मोबाइल से किया जाये। इसके लिए निगरानी सेल बनाकर कार्य किया जाये। महिलाओं, किशोरियों को अपने व उनके बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने के लिए जागरूक करें। मैम व सैम बच्चों को चिन्हित कर शासन द्वारा मिलने वाली सुविधाओं को मुहैया कराते हुए उनके पोषण स्तर में सुधार लाए। जिन लाभार्थियों के आधार फीडिंग का कार्य शेष रह गया है। शत प्रतिशत फीड कराना सुनिश्चित करें। डीएम ने कहा कि एक सितंबर से 30 सितंबर तक चलने वाले पोषण अभियान में शासन द्वारा निर्धारित थीम पर क्रियान्वयन करते हुए संबंधित विभाग (बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, आयुष विभाग, पंचायती राज, शिक्षा विभाग, कृषि विभाग, खाद्य एवं रसद विभाग, स्वास्थ्य, ग्राम्य विकास विभाग) पोर्टल पर शत प्रतिशत फीड कराएं। ताकि जनपद की रैंकिंग सही रहे। पोषण से संबंधी सभी बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की और पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि आशा बहू, आंगनबाड़ी कार्यकत्री स्वास्थ्य व पोषण के प्रति आपस में समन्वय बनाकर महिलाआंे को जागरूक करें और दी जाने वाली सुविधाओं को समय से उपलब्ध कराएं। कार्यदायी संस्था आरईएस द्वारा द्वारा जो आंगनबाड़ी निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है उनको नियमनुसार कार्यवाही करके विभाग को हैंडओवर कर दें। जिन आंगनबाड़ी केंद्रों में विद्युत संयोजन शेष है उनको संबंधित अधिशाषी अभियन्ता विद्युत से समन्वय बनाकर कार्य कराया जाये। उन्होने कहा कि पोषण वाटिका बनाने के लिए शासन द्वारा जो लक्ष्य मिला है उसके अनुसार पोषण वाटिका बनाएं। उन्होंने कहा कि सीडीपीओ अपने क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण कर निरीक्षण आख्या से अवगत भी कराएं। बीएचएनडी दिवस पर दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाएं संवेदनशीलता के साथ दी जाये। परस्पर निगरानी बनाए रखने के निर्देश सीडीपीओ को दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी सूरज पटेल, जिला कार्यक्रम अधिकारी साहब यादव, जिला पूर्ति अधिकारी अभय सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी उपेन्द्र राज सिंह, डीसी एनआरएलएम के अलावा समस्त सीडीपीओ सहित संबंधित उपस्थित रहे।

Azra News

Azra News

Next Story