रामचरित मानस से सड़क सत्याग्रह का शुभारंभ

रामचरित मानस से सड़क सत्याग्रह का शुभारंभ

- महापुरुषों को किया नमन

फोटो परिचय- (8) अनिश्चितकालीन सड़क सत्याग्रह में बैठे बुंदेले।

खागा/फतेहपुर। विजयीपुर-गाजीपुर मार्ग निर्माण के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती से प्रस्तावित अनिश्चतकालीन सड़क सत्याग्रह शुरू हो गया। राष्ट्रपिता व पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके सत्याग्रह का आरंभ किया गया। रामचरित मानस पाठ सुनने के लिए क्षेत्र के तमाम गांवों से टोली बनाकर ग्रामीण इस आंदोलन में सम्मिलित हुए।

बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के केंद्रीय अध्यक्ष प्रवीण पांडेय, सड़क संघर्ष समिति के संयोजक धर्मेंद्र दीक्षित व स्वयंसेवकों ने बताया कि बीते जनवरी महीने से इस सड़क के लिए संघर्ष किया जा रहा है। तीन विधानसभा क्षेत्र खागा, सदर व अयाह शाह के अंतर्गत आने वाले 100 से अधिक गांवों को ध्वस्त मार्ग सीधे तौर पर प्रभावित कर रहा है। बीते तीन दशक से मार्ग मरम्मत की उम्मीद लगाए क्षेत्रवासियों को जब कोई रास्ता नजर नहीं आया तो मजबूरी में सड़क सत्याग्रह की राह चुननी पड़ी। समिति के पदाधिकारियों का कहना था सत्याग्रह पूर्ण रूप से शांतिपूर्वक चलेगा। अध्यात्मिक कार्यक्रमों के साथ ही सड़क से प्रभावित ग्रामीणों के साथ चर्चा और उनके अनुभव लिए जाएंगे। सत्याग्रह के पहले दिन चौराहे पर भीड़भाड़ का नजारा रहा। स्थानीय दुकानदार, छात्र-छात्राएं, किसान, प्राइवेट वाहन चालक तथा नरैनी चौराहे से निकलने वाले राहगीरों ने सत्याग्रहियों का उत्साह बढ़ाया। मटरू सिंह, कमल सिंह, अर्जुन सिंह, अवधेश सिंह, मिथुन सिंह, कमल प्रसाद, रामबाबू दुबे, बाबूलाल, रामप्रसाद, मुन्ना विश्वकर्मा, अशोक शुक्ला आदि सैकड़ों लोग रहे। किशुनपुर थाने से भेजा गया पुलिस फोर्स सत्याग्रह स्थल के आसपास मुस्तैद रहा। शासन के विरोध में जारी सड़क सत्याग्रह को लेकर सरकारी कर्मचारियों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंची रही।

Azra News

Azra News

Next Story