पैसा मांगने पर पीड़ित को दी जान से मारने व संगीन मुकदमे में फ़साने की दी घमकी,पीड़ित ने मदद के लिए पुलिस से लगाई न्याय की गुहार ,पीड़ित से आठ लाख का किया गबन.......

पीड़ित से आठ लाख का किया गबन, सुलह के नाम पर दी फर्जी चेक

पैसा मांगने पर पीड़ित को दी जान से मारने व संगीन मुकदमे में फ़साने की दी घमकी,पीड़ित ने मदद के लिए पुलिस से लगाई न्याय की गुहार

अज़रा न्यूज़ फतेहपुर

पीड़ित ने प्रार्थना पत्र के जरिये प्रभारी निरीक्षक महोदय, थाना कोतवाली, सदर, जिला फतेहपुर से किया

निवेदन, कि प्रार्थी शोएब खान पुत्र स्व० रईस खान निवासी कृष्णबिहारीनगर थाना कोतवाली शहर व जिला फतेहपुर का रहनें वाला है। आज से करीब 6 वर्ष पूर्व अतीक अहमद पुत्र अनीस अहमद खान निवासी मोहल्ला पनी थाना कोतवाली शहर व जिला फतेहपुर प्रार्थी के पास आये और अपनी प्लाटिंग में प्रार्थी को एक प्लाट दिये जानें का प्रस्ताव रखा। अतीक अहमद प्रार्थी से पूर्व परिचित थे इसलिए प्रार्थी ने उनकी बात पर विश्वास कर उनकी प्लाटिंग में से एक प्लाट कय करने हेतु अतीक अहमद को 8,00,000/- रुपये नकद दिनॉक 30.06.2016 ई0 को दे दिया था जिसे प्राप्त करनें के बाद अतीक अहमद में प्रार्थी को बैनामा नही किया और बैनामा करनें से इंकार कर पैसा वापस करने के लिए छल द्वारा कूटकरण कर तैयार की गयी अपने I.C.I.C.I. Bank के खाते की फर्जी चेक प्रार्थी को दी जो भुगतान हेतु लगाये जानें पर बैंक द्वारा इस आधार पर अनादरित कर दी गयी थी कि उक्त चेक से सम्बन्धित उनके बैंक में कोई खाता नही है तब प्रार्थी ने अतीक अहमद के विरुद्ध मु० अ० सं० 770/2017 अन्तर्गत धारा 419, 420, 467, 468, 471, 506 आई० पी० सी० की प्रथम सूचना रिपोर्ट दिनॉक 20.09.2017 को थाना कोतवाली में दर्ज करायी थी जिसमें अतीक अहमद नें विवेचक को मिलाकर दोषपूर्ण अन्वेषण के जरिये अन्तिम आख्या न्यायालय प्रेषित करा दी थी जिस पर प्रार्थी नें न्यायालय के समक्ष आपत्ति दाखिल कर अग्रिम विवेचना का आदेश प्राप्त किया है। उक्त अग्रिम विवेचना के दौरान अतीक अहमद नें कानूनी कार्यवाही से बचनें के लिए पुनः छल द्वारा प्रार्थी से सुलह कर ली और उस सुलह के अनुसार उक्त 8,00,000/- रुपये के अतिरिक्त 50,000 /- रुपये हर्जा सहित कुल 8,50,000/- रुपये की अदायगी में अपनें एक्सिस बैंक लिमिटेड शाखा फतेहपुर के खाता संख्या 920010017525303 की दो पोस्टडेटेड चेक संख्या 185649 मु0- 5,00,000/- रुपया दिनोंकित 25.06.2024 व चेक संख्या 185646 मु0- 3,50,000/- रुपये दिनॉकित 26.06.2024 अपनें हस्ताक्षर कर प्रार्थी को रूबरू गवाहान मोहम्मद आरिफ व नजमी कमर दिया तथा इस बात का एक सुलहनामा भी तैयार कराया जिसमें उसनें शपथपूर्वक बयान करते हुए अपनें हस्ताक्षर बनाये। उक्त सुलहनामा के अनुसार अतीक अहमद द्वारा दी गयी चेकें प्रार्थी चेक में अंकित तिथि के बाद किसी भी समय अपनें खाते में लगाकर भुगतान प्राप्त करनें के लिए सक्षम बनाया गया है साथ ही उस सुलहनामा में यह भी बात लिखी गयी है कि यदि उक्त चेक किसी भी कारणवश अनादरित होती है तो अतीक अहमद पुनः एक नये छल व अन्य सुरंगत धाराओं के अन्तर्गत आनें वाले अपराध के लिए उत्तरदायी होंगे। इस सब के बावजूद प्रार्थी नें जब अतीक अहमद उपरोक्त द्वारा दी गयी उक्त चेकें, उनमें अंकित तिथि के बाद भुगतान हेतु अपनें खाते में लगाया तो उक्त चेंके अतीक के खाते में पर्याप्त धनराशि न होनें के कारण दिनाँक 08.07.2024 को डिसआनर हो गयी जिसकी

जानकारी होनें पर प्रार्थी नें अतीक अहमद उपरोक्त से दिनॉक 11.07.2024 को जब अतीक अहमद अपनें अन्य मुकदमों में कचेहरी फतेहपुर आया हुआ था, कचेहरी परिसर में उससे बात की तो अतीक नें पैसा वापस करनें से इंकार कर दिया और कहा कि मैं तुम्हें पैसा वापस नही करूँगा मेरे तमाम मुकदमें चल रहे हैं मुझे कोई दिक्कत नही होनें वाली है यदि तुमनें दुबारा पैसा माँगा तो मैं तुम्हारी हत्या करवा दूँगा और यदि कही मेरी शिकायत किया तो मैं तुम्हें उल्टा संगीन फर्जी मुकदमों में फंसाकर जेल भेजवा दूँगा।

अतीक अहमद संगठित अपराध सिंडीकेट का सामूहिक रूप से सामान्य मति से हत्या, भूमि हथियाना, आर्थिक अपराध करनां, अवैध हथियार रखना इत्यादि के सतत विधि विरुद्ध किया कलाप करके वित्तीय फायदा प्राप्त करनें वाला व्यक्ति है जिसके विरुद्ध पिछले 10 वर्षों में हत्या, जमीन हथियानें एवं आयुध अधिनियम तथा गैगेस्टर अधिनियम इत्यादि के एक से अधिक मुकदमें न्यायालय में विचाराधीन हुए हैं जिनमें न्यायालय द्वारा संज्ञान भी लिया जा चुका है और उन अपराधों में आर्थिक अपराध भी शामिल है। अतीक अहमद दबंग व भूमाफिया व्यक्ति है। जिसनें छल द्वारा प्रार्थी से 8,00,000/- रुपये प्राप्त किये और छल द्वारा कूटकरण कर उनका गबन कर रखा है जिसमें कानूनी कार्यवाही से बचनें के लिए उसनें पुनः छल द्वारा प्रार्थी को गुमराह करनें के लिए हर्जा सहित उक्त 8,50,000/- रुपये की धनराशि की अदायगी में अपनें खाते की पोस्टडेटेड चेकें दी जो डिसआनर हुईं और उनके डिसआनर होनें की दशा में पैसा माँगे जानें पर प्रार्थी को जान से मारनें की धमकी दी है। प्रार्थी अत्यधिक भयभीत है और भय के वातावरण में जीवन जीनें के लिए मजबूर है। अतीक अहमद उपरोक्त का प्रारम्भ से ही प्रार्थी के साथ पुनः छल करनें का इरादा रहा है इसीलिए उसनें प्रार्थी को नुकसान पहुंचानें व स्वयं लाभ प्राप्त करनें के आशय से छल द्वारा दौरान अग्रिम विवेचना उक्त मुकदमे में सुलह की और छल से सुलहनामा तैयार कराया और उसके बावजूद प्रार्थी को दी गयी चेकों का भुगतान नही कराया है। प्रार्थी सूचना को आया है।

अतः श्रीमान जी से प्रार्थना है कि प्रार्थी की रिपोर्ट लिखकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करनें की कृपा करें - अज़रा न्यूज़ फतेहपुर

पीड़ित,,,,

शोएब खान पुत्र स्व० रईस खान निवासी कृष्णबिहारीनगर थाना कोतवाली शहर व जिला फतेहपुर मो0नं0- 9839654000

Azra News

Azra News

Next Story