बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी बुधवार को तीसरे दिन भी नहीं लगी। शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी लगाने के लिए तैयार नहीं है। उनका कहना है कि शिक्षकों की..

तीसरे दिन भी नहीं लगी ऑनलाइन हाजिरी

- ऑनलाइन हाजिरी के विरोध में काली पट्टी बांधे रहे शिक्षक

फतेहपुर। बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी बुधवार को तीसरे दिन भी नहीं लगी। शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी लगाने के लिए तैयार नहीं है। उनका कहना है कि शिक्षकों की समस्याओं का निदान किया जाए, मांगें मानी जाएं और राज्य कर्मचारियों की तरह व्यवहार किया जाए। शिक्षक संगठनों के नेताओं का दावा है कि तीसरे दिन किसी भी शिक्षक ने ऑनलाइन हाजिरी नहीं लगाई। शिक्षक स्कूल तो पहुंचे और बच्चों को पढ़ाया लेकिन ऑफलाइन हाजिरी ही लगाई। साथ में बांह में काली पटटी बांध कर विरोध जताते रहे। वहीं छात्र-छात्राओं के अभिभावकों का मानना है कि शिक्षकों का विरोध जायज नहीं है।

बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में शिक्षकों को ऑनलाइन हाजिरी लगानी है। यह व्यवस्था सोमवार से लागू की गई थी लेकिन लगातार तीसरे दिन भी यह व्यवस्था फ्लाप रही। शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी लगाने के लिए तैयार नहीं है और शिक्षक संगठन भी ऑनलाइन हाजिरी का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक शिक्षकों की समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता, तब तक ऑनलाइन हाजिरी नहीं लगाई जाएगी। इसके साथ ही शिक्षकों के साथ राज्य कर्मचारियों जैसा व्यवहार किए जाने की मांग भी की जा रही है। इस मामले को लेकर विभिन्न शिक्षक संगठन आंदोलन भी कर रहे हैं। शिक्षक संघ के आह्वान पर स्कूलों के शिक्षक काली पट्टी बांधकर बच्चों को पढ़ा रहे हैं और इस ऑनलाइन हाजिरी का विरोध कर रहे हैं। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला महामंत्री विजय त्रिपाठी का कहना है कि संघ के आह्वान पर शिक्षक 14 जुलाई तक काली पट्टी बांधकर शिक्षण कार्य करेंगे और मांगों को लेकर 15 जुलाई को धरना देंगे। बताया कि शिक्षकों पर अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है। शिक्षक कालीपट्टी बांधकर विरोध कर रहे हैं। पहले दिन की ही तरह लगातार तीसरे दिन भी बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों ने ऑनलाइन हाजिरी नहीं लगाई और अभी तक चली आ रही व्यवस्था के तहत ऑफलाइन हाजिरी ही लगाई।

इनसेट-

कई किलोमीटर दूर की लोकेशन बटा रहा टैबलेट

ऑनलाइन हाजिरी लगाने के लिए शिक्षकों को टैबलेट दिए गए हैं। इन्ही के माध्यम से ऑनलाइन हाजिरी लगाई जानी है। स्थिति यह है कि ऑनलाइन हाजिरी के लिए टैबलेट पर सही लोकेशन ही नहीं आ रही है। शिक्षक स्कूल में हो तो टैबलेट लोकेशन कहीं दूसरे स्थान की बता रहा है। शिक्षक स्कूल में रहे तो टैबलेट उनकी लोकेशन स्कूल से कई किलोमीटर दूर की बताता रहा।

इनसेट-

जूनियर शिक्षक संघ का धरना 15 को

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के प्रदर्शन के बाद 15 जुलाई को जूनियर शिक्षक संघ का बीएसए दफ्तर में धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम है। जिसमें प्राथमिक शिक्षक संघ, जूनियर शिक्षक संघ भी शामिल होकर धरना प्रदर्शन को सफल बनाएंगे।

इनसेट-

नई-नई सौंपी जाती जिम्मेदारियां

कई शिक्षकों ने बताया कि बीते कई सालों से शिक्षकों पर एक के बाद एक नई जिम्मेदारियां सौंपी जा रही हैं। अब तो शिक्षकों को यह भी बताया जाता है कि आपको कब, कैसे और क्या पढ़ाना है। हमारे वर्षों के अनुभव को दरकिनार कर दिया गया। शिक्षकों का कई सालों से प्रमोशन नहीं हुआ है। इस पर विभाग तेजी नहीं दिखा रहा है।

Azra News

Azra News

Next Story