जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर भारी बर्फबारी और उससे छनकर आ रहीं ठंडी हवाओं से पूरे उत्तर भारत में गलन बढ़ गई है। मौसम विभाग ने अभी दो से तीन दिन तक ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना जताई है।

दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों कड़ाके की ठंड की मार झेल रहा है। कोहरे के साथ शीतलहर ने लोगों की मुश्किलें बढ़ाई हुई हैं। कम दृश्यता के चलते ट्रेन, फ्लाइट भी प्रभावित हो रही हैं। अगले 2-3 दिनों तक लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी ने मैदानी इलाकों में ठिठुरन बढ़ा दी है। वहां से आने वाली सर्द हवा दिन के तापमान को भी ठंडा कर रही हैं। उत्तरी क्षेत्र में कोहरे की स्थिति सहित विभिन्न कारणों से देश के विभिन्न हिस्सों से दिल्ली आने वाली 26 ट्रेनें देरी से चल रही हैं।

दिल्ली में यलो अलर्ट जारी

प्रादेशिक मौसम विभाग की ओर से गुरुवार के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी राजधानी में ठिठुरन बढ़ा रही है। गुरुवार को पारा लुढ़केगा इस दौरान न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। आसमान साफ रहेगा और सुबह के समय हल्के से मध्यम स्तर पर कोहरा छाने की आशंका है।

आईएमडी के अनुसार सुबह 5:30 बजे, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, राजस्थान, बिहार में बहुत घना कोहरा, मध्य प्रदेश और त्रिपुरा में घना कोहरा और जम्मू संभाग में मध्यम कोहरा छाया रहा। उधर, सुबह 5.30 बजे उत्तर प्रदेश के बरेली में 25 मीटर, लखनऊ 25 मीटर, बहराईच में 25 मीटर, प्रयागराज में 50 मीटर, वाराणसी में 50 मीटर, गोरखपुर में 200 मीटर, सुल्तानपुर में 200 मीटर दृश्यता दर्ज की गई। वहीं, चंडीगढ़ में 25 मीटर, सफदरजंग में 500 मीटर, पालम में 700 मीटर, राजस्थान के बीकानेर में 25, जैसलमेर में 50 मीटर, कोटा में 50 मीटर, जयपुर में 50 मीटर, अजमेर में 200 मीटर दृश्यता दर्ज की गई। इसके अलावा बिहार के गया में 25 मीटर, पूर्णिया में 25 मीटर, पटना में 200 मीटर दृश्यता दर्ज की गई। मध्य प्रदेश के सागर में 50 मीटर, भोपाल में 200 मीटर, सतना में 200 मीटर, अगरतला में 50 मीटर और जम्मू में 200 मीटर दृश्यता दर्ज की गई।

दो से तीन दिन तक ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश की चोटियों पर भारी बर्फबारी और उससे छनकर आ रहीं ठंडी हवाओं से पूरे उत्तर भारत में गलन बढ़ गई है। मौसम विभाग ने अभी दो से तीन दिन तक ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना जताई है। प्रयागराज व वाराणसी समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में बुधवार सुबह से बारिश हो रही है और अगर उत्तर पश्चिम भारत इसकी चपेट में आया तो ठंड का और बढ़ना तय है।

घने कोहरे ने बिगाड़ी ट्रेनों की चाल, यात्री हलाकान

घने कोहरे ने रेलगाड़ियों की चाल बिगाड़ दी है। घने कोहरे की वजह से ज्यादातर लंबी दूरी की ट्रेनें छह से आठ घंटे की देरी से चल रही है। इस वजह से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को 75 से अधिक ट्रेनों की चाल सुस्त रही।

Azra News

Azra News

Next Story