नहर कालोनी में धरना देते सिंचाई संघ के पदाधिकारी।

मो. ज़र्रेयाब खान अजरा न्यूज़ फतेहपुर। सिंचाई संघ ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर नहर कालोनी प्रांगण में धरना दिया। वक्ताओं ने सरकार से मांगों को पूरा किए जाने की आवाज उठाई। तत्पश्चात मुख्यमंत्री व सिंचाई मंत्री को संबोधित मांगों का ज्ञापन उप जिलाधिकारी को सौंपा।

सोमवार को सिंचाई संघ ने राजस्व कर्मचारियों (सींच पर्यवेक्षक व सींचपाल) की मांगों को लेकर धरना दिया। धरने की अध्यक्षता नहर प्रखंड अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह गौर ने करते हुए कहा कि मांगों को लेकर काफी समय से आवाज उठाई जा रही है। इसके बावजूद भी मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। इसलिए आज धरना दिया गया है। तत्पश्चात मुख्यमंत्री को भेजे गये ज्ञापन में मांग की गई कि एक अप्रैल 2005 से नियुक्त संघ के सदस्यों को पुरानी पेंशन से आच्छादित किया जाये, एक अप्रैल 2005 के पूर्व सेवा में आये और बाद में विनियमित हुए अंशकालीन नलकूप चालकों, सींचपालों की विनियमितीकरण के पूर्व की सेवा पेंशनरी बेनीफिट हेतु अर्हकारी मानते हुए पुरानी पेंशन का लाभ दिया जाये। बिना पेंशन के सेवानिवृत्त हो गये ऐसे कर्मचारियों के मृतक आश्रित को मिलने वाली न्यूनतम पेंशन के सामान पुरानी पेंशन दिलाया जाये, संघ के सदस्यों सींचपाल, नलकूप चालकों, सींच पर्यवेक्षकों की सेवा नियमावली 1953-54 यथासंशोधित वर्ष 2013/2015 दशकों से लंबित हैं उसे शीघ्र प्रख्यापित कराया जाये। सिंचाई अंकन के उपरान्त खसरे के नकल के रूप में बनाई जाने वाली जमाबंदियों को बंद किया जाये। सींचपाल के रिक्त पदों पर नियुक्ति शीघ्र की जाये व सींचपालों का न्यूनतम ग्रेड पे 2800 व सींच पर्यवेक्षक का न्यूनतम ग्रेड पे 4200 किया जाये। इसके अलावा अन्य मांगे भी शामिल रहीं। इस मौके पर बृजेंद्र कुमार शुक्ल, राममिलन पांडेय, नवीन सिंह, मान सिंह, अनुपम अवस्थी, रामसरन, राम किशोर भी मौजूद रहे।

Azra News

Azra News

Next Story